महिला पत्रकार निधि राजदान हुई फिशिंग की शिकार देखें पूरी खबर

0
321

आज दिनांक 15 जनवरी 2020 को एक ट्विटर पोस्ट से मिली खबर के अनुसार महिला पत्रकार के साथ साइबर फ्रॉड घटित हुआ है. निधि राजदान को मिला fake job offer जिसकेे चलते उन्हें काफी शर्मिंदा होना पड़ा। नई खबर के अनुसार अब वो हावर्ड यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर नहीं बनेगी।

इससे पूर्व उन्होंने ndtv को छोड़ने का मन बनाते हुए एक पोस्ट अपने ट्विटर हैंडल से साझा करते हुए हावर्ड यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर कार्य करने के बारे में बताया। लॉक डाउन के चलते लोगो को आशंका थी कि वो ndtv के साथ ही कंटिन्यू कर रही है। मगर अब उनकी इस पोस्ट से उनके आलोचकों को एक और अवसर मिल गया है।

उनकी इस खबर में इस बात को साझा किया गया कि उनके साथ फिशिंग की घटना घटित हुई है और उनसे उनके पर्सनल एकाउंट से काफी कुछ जानकारी हासिल कर ली गई। उन्हें मिले fake job offer letter from Harvard University के अनुसार उन्हें सितंबर 2020 में यूनिवर्सिटी में कक्षाएं लेनी थी। जिसके बाद कोरोना का कारण बताकर जनवरी तक wait करने को कहा गया।

इस देरी के कारण जब उन्हें संदेह हुआ तो उन्होंने जब हावर्ड यूनिवर्सिटी से संपर्क किया और अपने पास प्राप्त हुए आफर लेटर साझा किए तो उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया। उन्हें बताया गया कि यूनिवर्सिटी ने ऐसा कोई जॉब उन्हें आफर नहीं किया गया है। अब जाकर उनके अपने साथ हुए एक कथित फर्जीवाड़े की पुष्टि हुई है।

NDTV NEWS की इस पत्रकार को वामपंथी ग्रुप से माना जाता है और अक्सर दक्षिणपंथी लोगों द्वारा उनकी जमकर आलोचना देखने को भी मिलती है। वक दफा usa के तत्कालीन प्रेसिडेंट बराक ओबामा द्वारा झाड़ दिए जाने के चलते उनकी काफी किरकिरी भी हुई।

अक्सर ऐसे हैकर्स आपसे अच्छे दाम वसूलने के लिए फर्जी जॉब ऑफर देकर फुसलाते हैं। और पत्रकार अक्सर ऐसे खबरों को बिना वेरीफाई किये प्रतिक्रिया देने के लिए कुख्यात माने जाते हैं। इसी के चलते उन्हें अक्सर परिहास का शिकार होना पड़ता है। आपको भी सलाह दी जाती है कि ऐसे फर्जीवाड़ों में ना फंसे। औए जो ईमेल प्राप्त होते हैं उनका डोमेन अच्छे से वेरिफिकेशन करके ही रिप्लाई दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here